Category: Impotence

Healthy Sexual life According to Ayurveda – Natural Diet and Tips

Abstract

Due to urbanization or many other factors such as stress, anxiety, irritation etc people are losing their interest towards sexual activities.  In india, people feel shy or introverted when someone talks about sexually transmitted diseases or sex. Sex should be fun, enjoyable and healthier for both partners. Having unprotected sex can lead to a various Sexual transmitted diseases and unwanted pregnancy. But it is more important to prevent oneself from sexually transmitted diseases and having a healthy sexual life. In this article, we will discuss in detail about how to maintain a healthy sexual life with Ayurvedic herbs and herbal formulations.

Introduction

It becomes difficult for the person to maintain a healthy sexual life in today’s time. The main reason is stress and anxiety. It is common that a person is suffering from stress or anxiety nowadays because of hectic life. Actually the main concern is that today’s generation doesn’t know or understand that how sexual life is directly connected with the health. They are just concern towards the sex without knowing its good or bad effects over the body. Don’t you worry Ayurveda has all the answers to every problem. This is the oldest branch of medical science and has all fruitful answers. Ayurveda mentioned various ways for maintaining a healthy sexual life.

Ayurvedic ways for maintaining healthy sexual life

If somebody wants to maintain his/her healthier sexual life, he/she must understand the exact causes due to which sexual life is hamper. The possible causes are stress, lack of proper sleep, improper diet, lack of physical exercise, intake of alcohol in excess amount etc. These causes reduce the strength of the person, desires and pleasure and which further leads to various diseases like diabetes, depression and other neurological diseases.

healthy and happier sexual life

These are the ways to maintain proper and healthier sexual life

1. Diet

This plays a great role in maintaining healthier sex life. Avoid using oily, heavy, junk food items. Avoid taking anything after dinner plays a good role in this. A good diet can help and boost sexual desire. Most common side-effect of a poor diet is Erectile Dysfunction because of Diabetes and obesity. So we have to eat a balanced diet.

2. Exercise

Person should do exercise at least 15-20 minutes a day. It helps to balance all three doshas and makes you energetic. Exercise helps us from various diseases as well. It maintains proper secretion of hormone for better and healthier sex.

3. Avoid multiple sex partners

A person should take 6 hours of sleep daily for a healthy life. Improper sleep will lead to various health problems.

4. Proper sleep

A person should take 6 hours of sleep daily for a healthy life. Improper sleep will lead to various health problems.

5. Practice sexual intercourse according to season

Person should do sexual intercourse according to season for maintaining healthy sexual life. Sex according to season by Acharya Vagbhata

  • In hemant and Shishira ritu (in winter and late winter season): In this season a person should do sex according to his desire.
  • In Vasant and Sharad (in spring and autumn season): Sex should be done once in a 3 days.
  • In Grishma and varsha (in summer and rainy season): Sex should be done once in a 15 days.

According to Acharya Sushruta

  • A person should do sex once in 3 days in all seasons, except grishma ritu (Summer season)

Practice these above mentioned things will boost up your stamina and help in maintaining a very healthy sexual life. If your sex life is healthy and pleasurable, then automatically your general health will be in normal state.

Planet Ayurveda

Planet Ayurveda also provides some best herbal products for maintaining proper and healthier sexual life. It is a leading herbal manufacturing company. It manufactures various herbal products under the guidance of expert Ayurvedic physicians. These products are made from the standardized extracts of the potential herbs. These are 100% natural and vegetarian.

5 Natural Herbs to Boost Sex Drive

5 Natural Herbs to Boost Sex Drive

Planet Ayurveda Provides following Herbal Products

  1. Female health support
  2. Male support formula
  3. Atirasadi Churna
  4. Shatavari capsules

1. Female Health Support

This is a poly herbal formulation. It is a nature’s gift for females. It is useful in female infertility. This formulation is without any preservative and additives. It. The ingredients in this formulation are helpful in regulates menstrual cycles and relieves pain during menses and useful in excessive discharge (leucorrhea) such as Ashoka (Saraca indica), Shatavari (Asparagus racemosus), Lodhra (Symplocos racemosa). It also improves sexual libido.

Dosage: 1 capsule twice a day with plain water after meals

2. Male Support Formula

This is a poly herbal formulation. This is an effective herbal tonic for male sexual well being. This formulation has herbs such as Ashwagandha (Withania somnifera), Shilajit (Asphaltum punjabianum), Gokshur (Tribulus terrestris) that are useful in Erectile Dysfunction, loss of libido, premature ejaculation and assists in increasing male strength. This is also effective for men who are suffering from chronic fatigue syndrome

Dosage: 1 capsule twice a day after meals with plain water

3. Atirasadi Churna

This is an Ayurvedic formulation is a powder form. It is most potent herbal formula for all male sex health concerns. It contains herbs such

  • Safed Musli (Chlorophytum borivilianum)
  • Kali Musli (Curculigo orchioides)
  • Semal musli (Salmalia malabarica)
  • Gokshur (Tribulus terrestris) etc

Which are useful in increasing sperm count, infertility. It is also helpful in premature ejaculation and provides strength and stamina. This herbal product is also very useful in improving semen quantity and quality.

Dosage: 1 capsule twice a day after meals with plain water

4. Musli Strength Capsules

This poly herbal formulation is best for loss of libido and stamina. The ingredients in this formulation such as Safed Musli (Chlorophytum borivilianum) and Gokshur (Tribulus terrestris) reduces the impotency and inflates the quantity and quality of . It gives power to the reproductive system.

Dosage: 1 capsule twice a day after meals with plain water

5. Shatavari Capsule

This is a single herbal formulation. It is the best herbal supplement to improve overall female health. It is full of natural anti-oxidant and micronutrients. It is made from the extracts of Shatavari (Asparagus racemosus). It is effective in fatigue, anxiety, general weakness, and restlessness in females. This herb is very helpful in treating leucorrhea.

Dosage: 1 capsule twice daily after meals with plain water

Conclusion

As we see that by following the Ayurvedic regimen, we can easily manage our sexual life and sexual health. Ayurveda is a vast holistic science. This branch of ancient science heals all the ailments. So by following the above mentioned Ayurvedic protocols and also by following the planet Ayurveda herbal products we can live a healthy and happier sexual life without any side effects.

शिलाजीत क्या है, स्वास्थ्य लाभ और औषधीय उपयोग

शिलाजीत का परिचय

शिलाजीत, प्रकृति द्वारा मनुष्यों को मिला हुआ एक अद्भुत तोहफा है। शिलाजीत एक ऐसी प्राकृतिक औषधि है जो इंसान की शारीरिक कमज़ोरी को दूर करने में पूर्णतया सक्षम है। यह शारीरिक शक्ति बढ़ाने के साथ- साथ बढ़ती उम्र की परेशानियों से लड़ने में भी पूरी तरह से सक्षम है। यह एक प्राकृतिक कायाकल्प है, जो न केवल कई बीमारियों का निवारक है बल्कि कई गंभीर बीमारियों की चिकित्सा में भी अत्यंत लाभकारी है। जो भी व्यक्ति अपने अंदर की युवा जोश और युवा शक्ति को कायम रखना चाहता है और स्वस्थ रहना चाहता है वो शिलाजीत का उपयोग कर सकता है।

आयुर्वेद और शिलाजीत

भारत की भूमि आयुर्वेदकी जननी है, आयुर्वेद का मतलब केवल प्राकृतिक जड़ी-बूटी से इलाज का तरीका ही नहीं बल्कि आयुर्वेद एक कला और विज्ञान है, जो प्राकृतिक जड़ी-बूटी, और खनिज पदार्थों के इस्तेमाल का ऐसा तरीका हमे बताता है, जिससे हमारा शरीर और दिमाग दोनों स्वस्थ रह सकें। आयुर्वेद संतुलित आहार और स्वस्थ जीवनशैली का एक चमत्कारी मिश्रण है, जो एक स्वस्थ जीवन की नींव रखता है।

शिलाजीत को आयुर्वेद में शिलाजतु के नाम से भी जाना जाता है, जिसका मतलब होता है शिला (पहाड़ों) की जड़ों से उपजा हुआ और कमज़ोरी का विनाशक। इसमें उपस्थित एंटी-ऑक्सीडेंट गुण इसको शारीरिक शक्ति को परिपक्व बनाने में सक्षम औषधि बनाता है।

Benefits of Shilajit

1. तनाव में शिलाजीत के फायदे

शिलाजीत एक प्राकृतिक एंटी-ऑक्सीडेंट है, जिसकी वजह से यह शारीरिक एवं मानसिक तनाव को दूर करने में बहुत लाभकारी होता है।

2. यौन संबंधों में शिलाजीत

शिलाजीत यौन सम्बंधित परेशानियों के लिए एक रामबाण प्राकृतिक औषधि है जो व्यक्ति की सहनशीलता और जोश को बढ़ाने तथा स्वस्थ यौन संबंध को कायम रखने में पूरी तरह से सक्षम है।

3. महिलाओं के लिए शिलाजीत

शिलाजीत महिलाओं को मासिक धर्म में होने वाले दर्द और उनसे जुडी किसी भी प्रकार की परेशानी को दूर करने में अत्यंत फ़ायदेमंद होता है।

4. पुरुषों के लिए शिलाजीत

शिलाजीत पुरुषों में शीघ्रपतन, शुक्राणुओं का कम संख्या में निर्माण, स्तम्भन दोष आदि में बहुत लाभकारी साबित होता है।

5. त्रि-दोषों के लिए शिलाजीत

शिलाजीत शरीर के त्रि-दोषों और मानसिक दोषों को संतुलित रखने में पूरी तरह से निपुण है।

6. जोड़ों की परेशानियों के लिए शिलाजीत

शिलाजीत जोड़ों से सम्बंधित सभी प्रकार की समस्याओँ और बीमारियों के लिए भी अधिक लाभकारी औषधि मानी गयी है।

7. पाचन तंत्र और शिलाजीत

शिलाजीत शरीर के पाचन तंत्र को भी स्वस्थ रखता है, जिसकी वजह से ये ज़्यादा से ज़्यादा बीमारियों से बचाने और उनका निवारण करने में समर्थ है।

शिलाजीत के अन्य फायदे

  • शिलाजीत एक सर्वोत्तम विषहरण है जो हमारे शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को बहार निकालता है, और शरीर के अंदर स्वस्थ कोशिकाओं का संचालन करता है।
  • शिलाजीत का इस्तेमाल एक आहार पूरक के रूप में किया जाता है, जो सहनशीलता बढ़ाने में भी फायदेमंद होता है।शिलाजीत स्वस्थ रक्त संचार को भी बनाये रखता है।
  • शिलाजीत शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
  • शिलाजीत मधुमेह के मरीज़ों के लिए भी एक अत्यंत गुणकारी औषधि है।
  • शिलाजीत गुर्दे तथा पित्ताश्य की पथरी के इलाज में भी लाभदायक होता है।
  • शिलाजीत को वैद्यों द्वारा, हमारे शरीर को सभी प्रकार के संक्रमणों और श्वास सम्बंधित बीमारियों से बचाने में भी परिपूर्ण माना गया है।
  • शिलाजीत स्वस्थ शरीर के साथ-साथ स्वस्थ दिमाग, और स्वस्थ पाचन शक्ति को बनाये रखने में अति उपयोगी होता है।
  • शिलाजीत एक सर्वागीण प्राकृतिक औषधि है, जिसका निरंतर उपयोग हर तरह की बिमारी को दूर करता है।

प्लेनेट आयुर्वेदा शिलाजीत कैप्सूल्स

शिलाजीत के सही और उपयोगी इस्तेमाल के लिए इसकी पूर्ण जानकारी होना बहुत ज़रूरी है। शिलाजीत कई प्रकार के उत्पादों के रूप में उपलब्ध है, पर सभी उत्पादों संतोषजनक परिणाम देता है।

  • प्लैनेट आयुर्वेदा के शिलाजीत कैप्सूल्स को शिलाजीत के सभी प्राकृतिक गुणों का फायदा लोगों तक पहुंचाने के लिए बनाया गया है।
  • प्लैनेट आयुर्वेदा शिलाजीत कैप्सूल्स के हर एक कैप्सूल में शिलाजीत का 500 mg शुद्ध निर्यास (pure standardized extract) भरा जाता है।
  • प्लैनेट आयुर्वेदा द्वारा बनायीं गयी शिलाजीत कैप्सूल्स की शुद्धता और गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा है।
  • प्लैनेट आयुर्वेदा में तैयार किये गए कैप्सूल्स का बाहरी खोल (shells) भी पूरी तरह से प्राकृतिक और शाकाहारी होता है, जिसका कोई भी दुष्प्रभाव नहीं होता है। शाकाहारी खोल की वजह से यह कैप्सूल्स और अधिक प्रभावशाली हो जाते हैं, और किसी भी प्रकार की समस्या को दूर करने में निपुण होते हैं।
  • प्लैनेट आयुर्वेदा के शिलाजीत कैप्सूल्स को पूरी शुद्धता के साथ, आयुर्वेद विशेषज्ञों की निगरानी में और पौराणिक आयुर्वेदिक सिद्धांतो के अनुसार तैयार किया जाता है।
  • प्लैनेट आयुर्वेदा इन शिलाजीत कैप्सूल्स को देश विदेश में बैठे लोगों तक पहुंचा रहा है। हम सभी ज़रूरी तकनीकी ज्ञान और सही प्रकार के परिक्षण के बाद ही इन कैप्सूल्स को बनाते हैं और यह दावा कर पाते हैं की हमारे द्वारा बनायीं गयी शिलाजीत कैप्सूल्स सर्वोत्तम हैं।

पुराने वैद्यों और चिकित्सकों का अटूट विश्वास है की कोई भी ऐसी बिमारी नहीं है जिसका इलाज शिलाजीत न कर पाए।

प्लैनेट आयुर्वेदा शिलाजीत कैप्सूल्स के प्रमाणपत्र

प्लैनेट आयुर्वेदा शिलाजीत कैप्सूल्स KOSHER, GMP, HACCP, HALAL और ISO प्रमाणित हैं।

शिलाजीत कैप्सूल्स को कैसे खाएं ?

शिलाजीत कैप्सूल्स को रोज़ाना सादे पानी या गर्म दूध के साथ खाया जा सकता है। एक स्वस्थ व्यस्क प्लैनेट आयुर्वेदा शिलाजीत कैप्सूल्स का रोज़ाना एक कैप्सूल आहार पूरक के तौर पर ले सकता है।

हर उम्र के लिए शिलाजीत

शिलाजीत का इस्तेमाल किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं चाहे वो पुरुष हों या महिलाएं। शिलाजीत को अलग-अलग मात्रा में बच्चे, व्यस्क, बूढ़े, पुरुष, महिला, हर कोई अपने स्वास्थय को बनाये रखने के लिए और सभी प्रकार की बीमारियों से बचने के लिए, रोज़ाना ले सकता है। शिलाजीत की मात्रा उम्र और शारीरिक स्थिति के हिसाब से दी जानी चाहिए।

शिलाजीत के नुक्सान

हालाँकि इसका कोई भी दुष्प्रभाव नहीं होता है, पर गर्भवती और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को इसका उपयोग केवल चिकित्सकों की सलाह से ही करना चाहिए। स्वास्थय सम्बंधित किसी भी परेशानी से पीड़ित व्यक्ति को भी इसका इस्तेमाल अपने चिकित्सक की सलाह के हिसाब से ही करना चाहिए।